Indian Governor General From 1936-48

1936-44:-वाइसराय और गवर्नर जनरल लार्ड लिनलिथगो भारत में नियुक्त अंग्रेज गवर्नर जनरलों में इनका कार्यकाल सबसे लम्बा था। सविनय अवज्ञा आन्दोलन की समाप्ति और कांग्रेस द्वारा आधिकारिक रूप से मई 1934 में इस आन्दालन को वापस लेने के बाद अधिकाधिक कांग्रेसजन 1935 के अधिनियम में...

Indian Governor General From 1921-1936

1921-26 वाइस और गवर्नर जनरल लार्ड रीडिंग वह एक ऐेसे नाजुक समय में भारत आया था जब गांधीवादी नणनीति ने भारतीय राजनीति में एक नए युक का सूत्रपात किया था। नवम्बर 1921 में जब प्रिंस आॅफ वेल्स का भारत में आगमन हुआ, तो देशव्यापी हड़ताल ने उनका स्वागत किया। इस घटना और प्रथम...

Indian Governor General From 1899-1921

1899-1905 वाइसराय और गवर्नर जनरल लाॅर्ड कर्जन संभवतः किसी भी अन्य ब्रिटिश गवर्नर जनरल के विरूद्ध भारतीय लोगों के मन में इतनी अधिक उग्र घृणा ओर दुर्भावना जागृत नहीं हुई। जिनकी कर्जन के विरूद्ध हुई।वह भारत क प्रति ब्रिटिश साम्राज्यवाी नीतियों का नग्न प्रतीक था।जब उसने...

भारत के गवर्नर जनरल (Indian Governor General) Up To 1848-99

1876-80 वाइसराय एवं गवर्नर जनरल लार्ड लिटन वह ब्रिटेन में बेजामिन डिज़रायली की कंजर्वेटिव सरकार का भारत में प्रतिनिधि था। लिटन एक प्रसिद्ध कवि, उपन्यासकार और लेखकार होने के बावजूद भारतीय मामलों में बहुत प्रतिक्रिया वादी औरदमनशील था व भारतीय भाषा प्रेस अधिनियम, शस्त...

भारत के गवर्नर जनरल (Indian Governor General) Up To 1848-76.

1848-56- गवर्नर जनरल लाॅर्ड डलहौजी:- भारत का महानतम गवर्नर जनरल माना जाता है। भारत में अंग्रेजी साम्राज्य के विस्तार एवं उसको शक्तिशाली बनाने में उनका अपरिमित योगदान था। भारत में ब्रिटिश साम्राज्य का जितना अधिक विस्तार डलहौजी के शासनकाल में हुआ, उसका आधा भी किसी अन्य...